sanaur,dera ba lakshman puri ji maharaaj ,
dera baba lakshman puri ji, bolar chownk ,khera mohalla, sanaur patiala (PUNJAB)
Phone : 9814783935


baba satya puri ji

क़स्बा सनौर स्तिथ डेरा बाबा लक्ष्मण पुरी जी एक अध्बुत धार्मिक स्थल है. यह स्थल काफी प्राचीन है.इस स्थल पर महाराज बाबा लक्ष्मण पुरी जी ने तप किया.बाबा जी के बारे में यहाँ के पुरातन लोग बहुत ही अद्भुत बातें बताते है. बाबा लक्ष्मण पुरी जी बहुत पहुंचे हुए महात्मा थे. उनकी ख्याति दूर दूर तक फैली हुई थी.बाबा जी ने १२ साल अन्न ग्रहण नहीं किया और कठोर तप किया.१०० साल पहले यहाँ एक कच्ची कुटिया हुआ करती थी जिसमे बाबा जी तप किया करते थे .लोग बाबा जी के पास घर परिवार की समस्याओ के निवारण हेतु आते थे.बारिश न होती तो आप की रहमत से बारिश हो जाती बारिश ज्यादा होती तो बाबा जी बजाते और बारिश रुक जाती..यहाँ पर शाम को आना वर्जित था.क्युकी बाबा जी योग द्वारा अपने शरीर को तीन हिस्सों में बाँट देते थे.किसी भगत को देर रात कोई कष्ट था और वह बाबा के पास समाधान के लिए गया तो देखा की बाबा का शरीर तीन टुकड़ो में बटा हुआ है यह देख वह डर गया और इलाका निवासियों को सुबह यहाँ लाया तो बाबा जी भक्ति में लीन बैठे दिखाई दिए .ऐसे ही बाबा जी के वचनो से पीपल का सूखा पेड हरा हो गया जिसे की इलाके वाले काट देना चाहते थे.
इस डेरे की शुरवात बाबा विष्णुपुरी जी महाराज ने की थी. इसके बाद बाबा इन्दरपुरी जी और उनके बाद बाबा बदल पूरी जी ने इस स्थान पे तप किया.महाराज बदल पूरी जी गज़ा कर के भोजन लाते और यहाँ पीपल के विशाल पेड पर रहने वाले वानरों और बिल्ल्यों आदि जानवरो को भी अपने साथ ही भोजन खिलते. पुराने समय में बहुत सारे लोग इस स्थान को बंदरो वाला डेरा भी कहा करते थे.

लक्ष्मण पुरी जी के बाद इस स्थान की सेवा बाबा समाध पुरी जी ने की.और अब श्री बाबा सत्यपुरी जी महाराज इस स्थान की सेवा कर रहे है.बाबा जी का व्यक्तित्व बहुत ही लोकप्रिय है. आप इस स्थान की नियमत सेवा संभाल कर रहे है.यहाँ पर सरे धार्मिक त्यौहार बड़ी शर्द्धा से मनाये जाते है. विशेष रूप से शिवरात्रि का त्यौहार बड़ी धूम धाम से मनाया जाता है.यहाँ पर सच्चे मन से जो भी आया उसकी सब मुरादें पूरी हुई है. यहाँ देश विदेश से संगत बाबा जी की किरपा पाने हेतु आती है.
इस मंदिर को कोई भी आमदन का अतिरिक्त साधन नहीं है. केवल संगत के सहयोग से ही सारा काम हो रहा है. भगत जानो से अनुरोध है की इस डेरे को अधिक से अधिक धन राशि दान में देवे.

Designed, Developed & Hosted By : Public News Times