Rasoolpur Jaura,Gugga Mandir, Distt. Patiala
Rasoolpur Jaura, Distt. Patiala, Punjab, INDIA
Phone : 97812-06764


Bhagat Chamkila Ji

चमकीला भगत जी का शुरूआती जीवन बहुत ही संघर्षशील रहा है। भगत जी का बचपन का नाम कुलवंत सिंह था। कुलवंत सिंह जी पंजाब बिजली बोर्ड में नौकरी करते थे परन्तु किसी कारणवश वह नौकरी छूट गई। तब कुलवंत सिंह ने काली माता मंदिर पटियाला में नौकरी करना शुरू किया परन्तु वहां से भी निकाल दिया गया। इसी दौरान आप जी की मुलाक़ात अलीपुर अराईयाँ के प्रधान महंत बाबा अमरजीत सिंह जी से हुई और उनकी कृपा से आप को दोबारा से नौकरी मिल गई।

नौकरी मिलने पर आप जी ने गुग्गा जाहर वीर जी के मुख्य मंदिर बागड़ राजस्थान की यात्रा का प्रण किया। पर कई साल ऐसे ही बीत गए और आप वहां नहीं जा पाये जिस वजह से एक बार फिर जीवन में कठिनाइयां आनी शुरू हो गई। तब आप ने बाबा अमरजीत सिंह जी को अपना गुरु धारण किया और उनके साथ बागड़ की यात्रा पर चले गए।

बाबा अमरजीत सिंह जी ने ही कुलवंत सिंह को चमकीला भगत का नाम दिया। बागड़ से दो ईंटों का जोड़ा ला कर गावं रसूलपुर जौड़ा में गुग्गा मंदिर की स्थापना की, मंदिर के नवीनीकरण की प्रक्रिया निरंतर जारी है।

मंदिर में सुबह-शाम पूजा-आरती की जाती है। गुग्गा जी का दरबार सुबह छह बजे खुलता है और शाम को छह बजे आरती के बाद दरबार के कपाट सुबह तक के लिए बंद कर दिए जाते हैं। प्रतेयक वीरवार को बाबा जी की चौंकी लगती है। हर साल गुग्गा जी का जन्म दिवस श्री कृष्ण जन्म अष्टमी पर धूम-धाम से मनाया जाता है जिसमे सरहिंद, नाभा, पटियाला, लुधियाना और दूर-दूर से संगत पहुँचती है।

चमकीला भगत जी पूरा परिवार बहुत ही धार्मिक विचारों वाला है। मंदिर पहुँचने के लिए पटियाला रेलवे स्टेशन से ऑटो रिक्शा द्वारा पहुंचा जा सकता है। मंदिर की दुरी पटियाला से करीब दस किलोमीटर है।

Designed, Developed & Hosted By : Public News Times