alipur arian, sant sidh peer baba butey shah ji
sant sidh peer baba butey shah ji,khalsa mohalla,alipur arian,ptiyala,
Phone : 9888773800


desa singh ji

पटियाला शहर से 4 किलोमीटर की दूरी पर बसा गाओं है अलीपुर अराइअन. इस गाओं में संत सिद्ध पीर बाबा बूटी शाह जी का दरबार है. पीर जी के बारे में बताया जाता है की आस पास के सात पीरों के स्थानो में बाबा जी सबसे बड़े भाई माने जाते है.पहले यहाँ एक पुराण कुआँ था और बाबा जी के जिस किसी को भी दर्शन हो जाते वह इंसान उनके तेज़ और विशाल कद को देख कर कई दिन सामान्य होने में लग जाते. बाबा जी का कद तकरीबन पंद्रह फुट बताया जाता है. यह स्थान बहुत ही प्राचीन है. गाओं के बड़े बजुर्ग वह किस्से बताते है जो उन्होंने अपने बजुर्गों से सुने हैं.बाबा जी के स्थान पर जलालुद्दीन मोहम्मद अकबर भी आये बताये जाते है.बाबा जी सफेद चोला धारण करते थे और हाथ में लालटेन होती थी.इसी रूप में बाबा जी का कई लोगो को दीदार हुआ.बाबा जी के बारे में कहा जाता है की आप हर रोज़ मक्का मदीना की यात्रा करते हैं.पुराने समय में अलीपुर मुस्लिम लोगो का गाओं था और यहाँ पर अराई जाती के लोग बस्ते थे. धारणा अनुसार पास ही इस बियबान रस्ते से गुज़रते हुए अकबर को बाबा जी की आवाज़ सुनाई पड़ी लेकिन बादशाह ने ध्यान न दिया. फिर इस स्थान से आवाज़ आई तो बादशाह ने बाबा जी के मजार पर नमाज़ अदा की और यहाँ बादशाह को तेजस्वी होने का वरदान मिला.यहाँ पर हुई खुदाई से इस जगह भव्य ऊँची ईमारत होने के संकेत मिलते है.आज भी कई लोग मानते है की बाबा जी जिस पे किरपालु होते है उसे आवाज़ मार कर बुला लेते है.बाबा जी के बारे में यह भी प्रसिद्ध है की बाबा जी के स्थान पर बहुत सरे कुत्ते भोजन के समय आते और बाबा जी खुद उन्हें भोजन करवाते और उन के साथ ही भोजन करते.कुछ समय पहले ही बाबा जी के स्थान पर पक्का लेंटर डाला गया है और गुम्बद की सेवा चल रही है.साल में दो भंडारे होते है एक 14 मई को और लंगर और ष्बील लगाई जाती है. और दूसरा दिवाली से महीना बाद होता है तब यहाँ कड़ी चावल का लंगर लगाया जाता है.भंडारे से पहले यहाँ झंडा चढ़ाने की रसम अदा होती है.

Designed, Developed & Hosted By : Public News Times