sehra,gugga mandir,patiyala
shri gugga mandir,sehra,patiala,punjab
Phone : 9465152623


bhagat hari pal ji

पटियाला शहर से 25 किलोमीटर की दूरी पर स्तिथ है गाओं सेहरा. पटियाला बस स्टैंड से बस द्वारा या अपनी सवारी द्वारा इस स्थान तक पहुंचा जा सकता है.गुग्गा जहर वीर जी का यह पुरातन स्थान इस इलाके के लोगों के लिए बहुत शर्द्धा और धार्मिक महत्ता वाला स्थान है.यह स्थान 300 साल पुरातन है.भगत रामानंद जी ने बागड़ राजस्थान से जोड़ा लेकर इस मंदिर की स्थापना की .भगत रामानंद जी ने 90 साल इस स्थान पर सेवा की.उनके बाद उनके पुत्तर मांगी राम जी ने 80 साल इस स्थान की सेवा की.उनके बाद उनके पुत्तर धनि राम जी ने 80 साल सेवा की.अब इस स्थान पर धनि राम जी के पुत्तर हरी पाल जी पिछले 15 साल से यहाँ पर सेवा कर रहे है.यहाँ पर गुरु गोरख टिल्ला,माँ काली मंदिर,बाबा भैरों नाथ,नाहर सिंह,सामर् सिंह,जोड़ो का स्थान और बाबा पल्लू जी का स्थान बना हुआ है,ख्वाजा जी का स्थान भी यहाँ पर विद्यमान है.यहाँ पर बहुत पुरानी बिरनी है जिसमे नाग नागिन का जोड़ा भी रहता है.भादों के महीने में हनेरी और चाननी का मेला लगता है. साल में एक बार यहाँ भंडारा भी किया जाता है.भगत जी माँ का धागा भगतों की को मुरादे पूरी करने हेतु बांधते है और झारा भी करते है. भगत जी के दो संताने हैं .भगत जी के दो संताने हैं ,करमजीत सिंह,सुखदेव सिंह,सरपंच गुरप्रीत सिंह,लम्बरदार शतरा सिंह,अवतार सिंह,मल्कियत सिंह,जीत,मगहर सिंह भी तन मन से सेवा करते है.यहाँ पर दलिए का भंडारा किया जाता है.मुझे बहुत खेद है की बाबा जी के सबसे बड़े स्थान गुग्गा मंदिर बागड़ राजस्थान की वयवस्था की हालत बहुत दयनीय है. पंजाब के लोगो की बहुत शर्द्धा है और इस स्थान को देख कर हमारी धार्मिक भावनाए बहुत आहात होती है.की इतनी पवितर जगह पे सफाई, लंगर, हसपताल, सिक्योरिटी आदि की वयवस्था बिलकुल नहीं. करोड़ो लोग इस स्थान पे आते है और मेले में बहुत असुविधा से परेशान होते है, काश बाबा जी का मंदिर पंजाब में होता तो यहाँ के भगत जन इसे सोने चाँदी से सजा देते, बाबा जी के भगत अरबो का चढ़ावा यहाँ दान करते है लेकिन मंदिर कमेटी और राजस्थान प्रशासन और मंत्री आँख मूँद कर बैठे है, बाबा जी इन सब को सदबुद्धि प्रदान करे ता की मंदिर प्रबंध को मर्यादा में लाया जा सके. मेरा सरकार और प्रबंधको को सन्देश है की अगर वह यह काम नहीं कर सकते तो इसका प्रबंध पंजाबियों को दे . जो काम २०० सालो से नहीं हुआ बाबा जी के भगत उसे २० दिन में कर देंगे, अगर प्रशासन नींद से जागना चाहता है तो कभी वो अधिकारी हमारे गाओं में आ कर देखे की बाबा जी के स्थान को हम ने इतनी छोटी की जगह पे कितनी मर्यादा से सेवा करते है. भगतो की दी हुई दान राशि को सही जगह लगाया जाना चाहिए .

Designed, Developed & Hosted By : Public News Times