dera baba ram dass ji,sarala khurad
dera baba ram dass ji,sarala khurad,teh- ghanaur, patiala,punjab
Phone : 98787-65236


baba ram dass ji

पटियाला के क़स्बा घनौर से आठ किल्मेटर की दूरी पर स्तिथ यह गाओं सराला खुर्द बहुत ही विशेष धार्मिक महत्व रखता है. यहाँ का इतहास 300 साल पुराना है.बाबा राम डायस जी बहुत ही पहुंचे ही महापुरुष हुए हैं.यह स्थान निर्जन था और यहाँ पर बरगद का पेड था जिसके नीचे बाबा रामदास जी तप किया करते थे.कहा जाता है की बाबा जी बच्चों से बहुत प्यार करते थे.खेतों से गन्ने तोड़ कर पटियाला किला चौक जाते और गन्ने बच्चों में बाँट देते.पटिआला में नदी की खुदाई के काम में बाबा जी ने भी हिस्सा लिया. कहते हैं की बाबा जी को चार चार आदमी मिटटी की टोकरी उठवाते थे. बाबा जी बिना किसी थकावट दिन भर काम किया करते.तभी कुछ मजदूरों ने देखा की टोकरी बाबा जी के सर से कुछ ऊपर ही रहती थी.यह चमत्कार बहुत दिन चलता रहा.इस चमत्कार की खबर लोगों ने महाराजा भूपिंदर और महारानी को दी.राजा और रानी दोनों ने आ कर बाबा जी के दर्शन किये.राजा ने बाबा जी से क्षमा यातना की और बाबा जी से उनकी इचा पूछी.बाबा जी ने अपने गाओं सराला के लिए घाघर नदी पर बाँध बनवाने की इचा जाहिर की तो राजा ने हाथियों द्वारा राहतस्मग्री भेज कर बाँध बनवा दिया.कहा जाता है की एक बार गाओं में बहुत ओले पड़े.गाओं निवासियों की प्राथना पर आप ने सरे ओले एक ही जगह इकठे कर दिए. आज इस स्थान को राम तलाई के नाम से जाना जाता है.बाबा जी ने बहुत समय इस स्थान पर कठोर तप किया.आप ने यहीं पर जिन्दा समाधि ली. इसी स्थान पर बाबा बाहल दास चेला बाबा राम दस् जी ने सेवा की उनके बाद उनके चेले बाबा जमुना दास ने चालीस साल सेवा की और यहीं पर जिन्दा समाधि ली.उनके बाद उनके चेले बाबा हरी गिर ने 50 / 60 साल सेवा की और यहीं पर बने हुए धूणे पर बैठे ही जिन्दा समाधि ली.उनके बाद अगले सेवादार बाबा बख्तोर नाथ जी ने सेवा की ,सारे महानपुरषों की समाधियाँ इस स्थान पर बनी हुई हैं.इसी गाओं के बाबा रोनकी दास जी ने भी काफी समय इस स्थान पर तप किया और सेवा की.बाबा प्रेम दास त्यागी जी अब इस स्थान पर सेवा कर रहे हैं.आप के गुरु श्री श्री 108 महात्यागी श्री राम दास जी महाराज हैं. बाबा जी श्री राम दिगंबर अखाड़ा अयोध्या छोटी छावनी से सम्बंद रखते हैं.बाबा जी बहुत ही नेक और ऊँची सोच वाले महापुरुष हैं. आप पिछले एक साल से सेवा कर रहे हैं.चार साल पहले मंदिर कमेटी की स्थापना की गई.प्रधान बलबीर सिंह,मीत प्रधान- जरनैल सिंह,खजांची- जय हिन्द वर्मा , जर्नल सेक्टरी - बलविंदर सिंह,और नसीब सिंह,हरनेक सिंह,सुचा सिंह ,बूटा सिंह, लम्बरदार संतोख सिंह, सबका सरपंच-गुरदेव सिंह,हरमेस सिंह,रंजीत सिंह,तरलोचन सिंह आदि सारे ही व्यक्ति तन मन से बाबा जी के स्थान की सेवा में लगे हुए हैं.श्राद्धों में इस स्थान पर विशेष मेला होता है और खीर पूड़े का विशाल भंडारा होता है.बुधवार को यहाँ पर सांगत विशेष रूप से बाबा के दर्शन करने आती है.आज भी यह प्रथा है की यदि बहुत ज्यादा मात्रा में ओले पड़े तो यहाँ पर आरती करने से ओले बंद हो जाते हैं.इस स्थान पर मन की मुरादें पूरी होती हैं.मंदिर कमेटी को दान भेजने हेतु.स्टेट बैंक ऑफ़ पटियाला के इस खता नंबर का उपयोग करें- 85043199002. IFSC CODE-STBP0000867
प्रधान बलबीर जी के अनुसार बेरोज़गारी और भृष्टाचार देश के विकास में रोड़ा हैं, नौजवानों को नशों से दूर रह कर खेल कूद और पढ़ाई में मन लगाना चाहिए.

Designed, Developed & Hosted By : Public News Times