panchayti gurudwara sahib sular patiala
panchayti gurudwara sahib sular,patiala ,punjab .
Phone : 9216603552 email-khushwantrandhawa@gmail.com


shri guru nanak dev ji

पटियाला बस स्टैंड से तकरीबन 6 किलोमीटर की दूरी पर सूलर नमक गाओं स्तिथ है.इस गाओं की आबादी 10,000/-से ज्यादा है, इसी गाओं में पंचायती श्री गुरुद्वारा साहिब की मनमोहक ईमारत स्तिथ है. सारे इलाके के लोगों की इस गुरुघर के प्रति विशेष श्रद्धा है. पटियाला स्टेशन या बस स्टैंड से इस स्थान तक बस या ऑटो से आसानी से पहुंचा जा सकता है.इस गुरुद्वारा साहिब की ईमारत तकरीबन चार बीघा जमीन पर बनीं हुई है. इस पांच मंज़िला गुरुद्वारा साहिब में तकरीबन 500 लोगों के बैठ कर लंगर ग्रहण करने की व्यवस्था है.लंगर हाल को लंगर के इलावा जरूरत अनुसार और भी धार्मिक कार्यों हेतु इस्तेमाल किया जाता है.2004 में नईं ईमारत की सेवा शुरू की गई जो की आज तक चल रही है.इस गुरुद्वारा साहिब की नींव वर्ष 1960 में रखी गई थी.मौजूदा पंचायत ही इस स्थान की सेवा कर रही है.सरपंच खुशवंत सिंह रंधावा और मेंबर पंचायत रघुवीर सिंह ,राजिंदर सिंह , रंजू बाला और सुनीता रानी बहुत ही सेवा भाव से इस स्थान की सेवा कर रहे है. गुरुद्वारा साहिब की छत पर नए गुम्बंद बनाने की सेवा चल रही है.पंचायत ने हाल ही में पालकी साहिब , वाश बेसिन, एक शेड ,और संगत के बैठने हेतु बेंच की सेवा की हैं.निशान साहिब 65 फुट ऊँचा है जिसे 100 फुट तक और ऊँचा करने पर विचार हो रहा है.
सबसे पहले ग्रंथि बाबा महिंदर सिंह जी ने 2003 तक इस स्थान की सेवा की .उनके बाद रमन सिंह और अब 2012 से साहिब सिंह जी इस स्थान पर सेवा कर रहे हैं. दो कमरे सेवादारों के रहने के लिए बने हुए हैं,गुरुद्वारा साहिब में 80 बिस्तर और बर्तनो का प्रबंध हैं. इलाका निवासी विवाह शादी या धार्मिक कार्यक्रमों के लिए इनका उपयोग करतें हैं.सारे ही गुरपुरब और त्यौहार इस स्थान पर श्रद्धा से मनाये जाते हैं, ख़ास मौकों पर लंगर और गुरबानी कथा कीर्तन के प्रोग्राम किये जाते हैं. इस स्थान पर सेवा करने के इछुक व्यक्ति पंचायत या दिए गए नंबरों पर दान देने हेतु सम्पर्क कर सकते हैं,गुरुद्वारा साहिब के लिए दान निम्न लिखित खाता नंबर पर भी जमा करवाया जा सकता है.
bank name- uco bank. account no- 23240110004692 . branch code- 2324, ifsc code- wcba0002324.

Designed, Developed & Hosted By : Public News Times