gurudwara shaheed baba wajir singh ji, rurki
gurudwara shaheed baba wajir singh ji, village-rurki,goraya,punjab
Phone : 98888773800


guru grant sahib ji

पंजाब के क़स्बा गुरायां से तकरीबन सात किलोमीटर की दूरी पर स्तिथ है रुड़की गावं. इस गावं में कूनर वंश के बज़ुरग शहीद बाबा वजीर सिंह जी का गुरुद्वारा बना हुआ है. सारे इलाके भर में इस गुरुद्वारा साहिब का बहुत ही धार्मिक और आध्यात्मिक महत्व बताया जाता है. इस सारे इलाके के आस पास बहुत सारे धार्मिक गुरूद्वारे और पीरों के जगत प्रसिद्ध स्थान मौजूद है, जिनमे बाबा चिंता जी , कान्हा ढेसियां, बाबा संग ढेसियां, आदि जगत प्रसिद्ध स्थान हैं. जून माह में इस स्थान पर बाबा जी का वार्षिक मेला लगता है जिसमे देश विदेश से इस जगह से जुडी हुई संगत हाजरी भर्ती है.कूनर गोत के स्वर्गीय महिंदर सिंह जी और उनका परिवार बाबा जी के वंशज हैं. कई पहियों से यह परिवार इस स्थान की सेवा करता आ रहा है.वर्ष 2008 को गुरुद्वारा कमेटी बने के बाद गुरूद्वारे का प्रबंध कमेटी देख रही है. इस स्थान पर बाबा वजीर जी की समाधि के साथ साथ उनके सेवक और नातेदार बाबा भोला दास जी,और शेषनाग का स्थान बना हुआ है.सारा गाओं हर विशेष अवसर पर बाबा जी का आशीर्वाद पाने यहाँ आते हैं. कहा जाता है की बाबा वजीर जी अपने समय के बहुत ही सिद्ध पुरुष हुए हैं,उनका जीवन काल सिख गुरुओं के जीवन काल के समय का है.बाबा जी के चमत्कारों के बारे में बहुत सी बातें प्रसिद्ध हैं. बाबा जी के स्थान पर वर्ष भर में कई अखंड पाठ होते रहते हैं. इस स्थान पर अनेक लोगों ने मन चाही मुराद पायी है. और आज भी इस स्थान पर मांगी गई मन्नत पूरी होते ही लोग श्रद्धा से श्री गुरु ग्रन्थ साहिब जी की मर्यादा अनुसार शुक्राने का अखंड पाठ रखवाते हैं और लंगर लगते हैं. दुनिआ भर से इस स्थान के साथ संगत जुडी हुई है.इसी परिवार के खेतों में भव्य गुरुद्वारा साहिब बना हुआ है. पहले यहाँ पर बाबा जी का छोटा स्थान हुआ करता था. संगत के सहयोग से इस स्थान पर 2001 में भव्य ईमारत बनाई गई. श्री गुरु ग्रन्थ साहिब जी का प्रकाश ऊपर के बड़े हाल में किया गया और नीचे बहुत ही बड़ा लंगर हाल बनाया गया. कमेटी ने इस स्थान पर नियमत मर्यादा भाल करने हेतु ग्रंथि सिंह के रहने के लिए भी निवास बनवाया. हर रोज़ गुरमर्यादा अनुसार इस स्थान की सेवा की जा रही है.

Designed, Developed & Hosted By : Public News Times