shri ram mandir, mohalla munshiyan, nabha, punjab
shri ram mandir, mohalla munshiyan, punjab
Phone : 9814853841


pandit bharat ram dangwal.

नाभा शहर पंजाब का बहुत ही पुराना और धार्मिक महत्व रखने वाला शहर है. नाभा रयासत बहुत प्रसिद्ध रयासत रही है. पुराने नाभा शहर को पुरानी नाभि नाम से जाना जाता है.नाभा बस स्टैंड से एक किलोमीटर की दूरी पर मंदिर श्री राम मंदिर मोहल्ला मुंशियाँ स्तिथ है.श्री राम मंदिर मोहल्ला मुंशियाँ, नाभा शहर का एक प्राचीन धार्मिक स्थल है. यह मंदिर मुंशी साहिब सिंह जी और उनके परिवार ने बनवाया था.और इस मंदिर में बत्ता परिवार का पूरा सहयोग है.भारत राम जी का परिवार 32 साल से इस मंदिर की सेवा कर रहा है.बत्ता परिवार को नाभा शहर लाकर बसाने वाले महाराजा हमीर सिंह जी थे. बत्ता परिवार ने शहर के चार मुख्या मंदिरों का निर्माण किया था.जिनमे गोपाल मंदिर पटियाला गेट ,राधा कृष्ण मंदिर पाण्डुसर, राधा कृष्ण मन्दिरहीरा महल, और श्री राम मंदिर मोहल्ला मुंशियाँ हैं , यह मंदिर पुराने बस स्टैंड पटियाला गेट से मात्र पंद्रह सौ गज़ दूरी पर स्तिथ है.बहुत ही आसानी से इस मंदिर तक पहुंचा जा सकता है. मंदिर में पांच त्यौहार बहुत ही शर्द्धा भावना से मनाये जाते हैं, जैसे की महा शिवरात्रि, राम नवमी, कार्तिक पूजा, तुलसी विवाह, और महा शिवरात्रि को मंदिर में विशेष पूजा अर्चना और भंडारे का आयोजन किया जाता है.
इस मंदिर की सेवा स्वर्गीय पंडित दर्शन लाल डंगवाल वासी टिहरी गढ़वाल ,ने वर्ष 1983 में शुरू की, उनके निधन के उपरांत उनके पुत्र स्वर्गीय पंडित चंडी परसाद, और उनके बाद पंडित भरत राम और पंडित जगदीश जी महाराज इस स्थान की सेवा और पूजा पाठ का कार्य कर रहे हैं.
पंडित भरत राम जी एक उच कोटि के कर्मकांडी पंडित हैं, आप जनम पत्री,टेवा, पूजा पाठ , अनुष्ठान, विवाह अथवा हर प्रकार के शुभ कार्य हेतु हर पर्कार की विशेष पूजा अर्चना, करम काण्ड अवं यज्ञ आदि में निपुण हैं.
इस मंदिर मैं विशेष रूप से पुरातन शिवलिंग पर 41 दिन जल अरपत करने से सब मनोकामनाए पूर्ण होती हैं. इस मंदिर की विशेषता इस मंदिर में स्थापित हनुमान जी की प्रतिमा है, आप स्वयंभू ही इस स्थान की खुदाई से प्रकट हुए, आप की प्रतिमा जो की अति प्राचीन है पर बहुत ही ज्यादा सिन्दूर का लेप था , जिसे की साफ़ करके मूर्ति को दुबारा रंगों से सुसज्जित किया गया,मान्यता है की हनुमान जी की यह सिद्ध प्रतिमा है जिसके सिर्फ दर्शन मात्र से ही असीम कृपा प्राप्त होती है. 41 दिन हनुमान जी को सिन्दूर चढ़ाने और प्रशाद अर्पण करने से हर प्रकार के सुखों की प्राप्ति होती है.
मंदिर कपाट प्रतिदिन सुबह 5 बजे से लेकर रात्रि 9 बजे तक खुले रहते हैं. यहाँ पर सच्चे दिल से आने वाले हर एक भगत के कार्य श्री राम जी सम्पूर्ण करते हैं. मंदिर में पूजा पाठ या दान आदि देने हेतु मंदिर कमेटी से सम्पर्क किया जा सकता है.
मंदिर कमेटी को विशेष रूप से सहयोग देने वालों में श्री सुरिंदर बावा जी, श्री शम्मी चोपड़ा जी,मुनीश बत्ता,सुरिंदर कपला,शिव चोपड़ा, राज चोपड़ा,टीकम चंद बत्ता,रविंदरपाल बत्ता ,जगदीश बत्ता, अशोक बत्ता, अजय बत्ता ,कमल कृष्ण बत्ता ( कृष्णा आइसक्रीम वाले )ओम प्रकाश चोपड़ा, सोम प्रकाश चोपड़ा,हुकम चंद जिंदल, सुभाष बंसल, और रवि बजाज जी हैं, यह सभी बहुत श्रद्धा भावना से इस मंदिर की सेवा में विशेष सहयोग दे रहें हैं.

Designed, Developed & Hosted By : Public News Times